Home / Travel / कैसी है ये बावली ? Bhandarej Dausa Rajasthan travel blog india

कैसी है ये बावली ? Bhandarej Dausa Rajasthan travel blog india



भांडारेज
बावड़ी या बावली उन सीढ़ीदार कुँओं , तालाबों या कुण्डो को कहते हैं जिन के जल तक सीढ़ियों के सहारे आसानी से पहुँचा जा सकता है। भारत में बावड़ियों के निर्माण और उपयोग का लम्बा इतिहास है। कन्नड़ में बावड़ियों को ‘कल्याणी’ या पुष्करणी, मराठी में ‘बारव’ तथा गुजराती में ‘वाव’ कहते हैं। संस्कृत के प्राचीन साहित्य में इसके कई नाम हैं, एक नाम है-वापी। इनका एक प्राचीन नाम ‘दीर्घा’ भी था- जो बाद में ‘गैलरी’ के अर्थ में प्रयुक्त होने लगा। वापिका, कर्कन्धु, शकन्धु आदि भी इसी के संस्कृत नाम हैं।

ये भी कहते है सत्य है:- एक रात में तैयार हुई थी ये तीनो बावड़ी। :- भांडारेज की बावड़ी ( दौसा)राज. जी हाँ दौसा की चाँद बावड़ी की तरह ये बावड़ी भी कहते है कि एक रात में ही बनी थी। इतना ही नहीं ये भी कहते है कि चाँद बावड़ी , आलूदा की बावड़ी और भांडारेज की बावड़ी तीनो को ही एक रात में बनाया गया और ये तीनो सुरंग से एक-दूसरे से जुड़ी हैं।

#shubhjourney #travel #vlog #temple #bawdi #baori #rajasthan #tourist #stepwell #dausa

32 comments

  1. Sir kya bat h jis लड़के se aapne pucha tha wo to hamare school ka hi h hamara student

  2. 10:18 ye mere uncle ka beta hai,
    Yani mera Bhai

  3. भाई बहुत बढ़िया वीडियो,
    बावडी के पास में मेरा घर है,
    भाण्डारेज मेरा गाँव है,
    बावडी पसंद आई हो तो लाईक करो
    #dlp51p me bhi vdo bnata hu bro

  4. sir ji aapke paas dron konsa he.

  5. namaskar Sanjay bhai aap Agar MP Mein Pravesh Karen To Ham aapko Dekha Bhari se Intezar kar rahe hain aap Humse Jarur Milana

  6. सिकन्दरा कि विडियों कब डालोगे सर

  7. संजयजी आप दुकान दार शिवकुमारजी से बात कर रहे थे तो वो जिस दुल्हा की बात कर रहे थे वो दुल्हराय था । जयपुर इतिहास के अनुसार खोहगंग का राजा आलणसिंह मीणा ने एक असहाय मां को शरण दी थी। तथा धर्म बहिन बना कर रखा था लेकिन दिल्ली के तंवर शासक अनंगपाल के बहकावे में आकर दुल्हराय ने आलणसिंह का कत्ल कर दिया राणी ने दुल्हराय को राजा बना कर पती के साथ सती हो गई। दुल्हा जिसने कछवाह शासन की नींव रखी तथा भांडारेज के भाभड़सिंह मीणा को हराकर अपना राज्य विस्तार किया। भाभड़सिंह के वंशज अब भाभड्या गोत्र के मीणा काफी संख्या में खाऱंडी , गोठड़ा आदि आसपास के गांवों में रहते हैं
    बाद में चौहनो को दे दिया।

  8. Abi to pura Bhandrej nhi daka Haa up ne

  9. 9672471001 my phone no Kabhi aur Bhandare jao to phone kar lena.

  10. Bhai Kab Aaye bhandrej mein?

  11. Bhai aap mere village kab aaye bhandarej me

  12. गुजरात मे बावड़ी को वाव बोलते हैं गुजरात मे भी कही स्थानों पर कलात्मक बावड़ी बनी हैं

  13. My home town Bhandarej
    Thank you Shubh journey

  14. मेहंदीपुर बालाजी आओ तो मिलना
    9782365932

  15. Guys mujhe bhi subscribe kr do yr💘
    👇
    👇❤❤❤🙏🙏❤❤
    👇
    🙏🙏Please🙏🙏

  16. चूतिये बावली नही बावड़ी बोल

  17. Ap logo ki video boht achi hoti hai ….magar ap log bas Rajadthan hi main visit karty hain indai boht bada hai mumbai k pass Murud ek jaga hai us ka bi visit kare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *